Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana : राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2024

Posted by

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana : राजस्थान सरकार ने राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया की शुरुआत कर दी गई है। यह योजना सभी जिलों की महिलाओं के लिए लागू कर दी गई है। राजस्थान सरकार द्वारा गर्भवती महिलाओं, धात्री महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य तथा पोषण की स्थिति में सुधार के लिए इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना शुरूआत की गई है। Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2024 का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों का पालन करना और राजस्थान से कुपोषण को दूर करना है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana : राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana

Name of Schemeइंदिरा गाँधी मातृत्व पोषण योजना
समेकित बाल विकास सेवा योजना (आईसीडीएस)
Year 2023-24
StateRajasthan
BeneficiariesPregnant Ladies and Infants
Official Websiterajastha.gov.in

राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व योजना के मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं, स्तनपान करने वाली महिलाओं तथा 3 वर्ष तक के बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण की स्थिति में सुधार लाकर जन्म के समय कम वजन और दुर्बलता की घटनाओं को कमी लाना है।

इसका उद्देश्य राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों का पालन करने के साथ-साथ राजस्थान सरकार की कुपोषण निवारण रणनीति ‘सुपोषित राजस्थान विजन 2022’ के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए सामाजिक एवं व्यावहारिक परिवर्तन संचार रणनीति को अपनाना भी शामिल है।

राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा देश की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 103वीं जयंती पर चार आदिवासी जिलों प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा और उदयपुर और सहरिया बहुल जिला बारां में 19 नवंबर 2020 को राज्य की गर्भवती महिलाओं के बेहतर स्वास्थ्य और पोषण सुविधाएं के लिए शुरू किया गया। 1 अप्रैल 2022 से इस योजना को राजस्थान के सभी जिलों के लिए लागू कर दिया है। यह योजना महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana लाभार्थी

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के अंतर्गत दूसरी संतान के जन्म पर लाभार्थियों को निम्न पांच चरणों में 6000 रुपए का नगद लाभ दिया जाएगा। यह राशि लाभार्थी के खाते में सीधी जमा की जाएगी।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana : राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना
किस्तशर्तराशि
प्रथमगर्भावस्था जांच व पंजीकरण (ANC & Registration) होने पर (अंतिम माहवारी तिथि से 120 दिनों के भीतर पंजीकरण होने पर )1000
द्वितीयकम से कम 2 प्रसव पूर्व जांचें (ANC) पूरी होने पर (गर्भावस्था के 6 महीने के भीतर)1000
तृतीयबच्चे के जन्म पर, संस्थागत प्रसव (Institutional Delivery) पर1000
चतुर्थबच्चे के 3.5 माह (105 दिवस) की उम्र तक के सभी नियमित टीके लग जाने व नवजात बच्चे का जन्म पंजीकरण होने पर (टीकाकरण के अंतर्गत बच्चे को BCG, OPV, DPT और हेपेटाइटिस – बी या इसके समकक्ष विकल्प की पहली खुराक मिलने पर)2000
पांचवींद्वितीय संतान के उपरान्त दम्पती द्वारा संतान उत्पत्ति के 3 माह के भीतर स्थायी परिवार नियोजन साधन अपानाये जाने (PP Sterlisation) अथवा महिला द्वारा कॉपर टी (PPIUCD) लगवाया जाने पर1000
Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana Required Documents

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार है-

  • ममता कार्ड की फोटो कॉपी
  • जन आधार कार्ड, आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
  • पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर

आवेदन कैसे करें

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको निम्न चरणों का पालन करना होगा-

  • महिलाएं आवेदन फॉर्म भरने के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता या सहायिका की सहायता ले सकती है।
  • इसके लिए लाभार्थी ऑनलाइन आवेदन भी फॉर्म भर सकते हैं, इसमें चयन प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी।
  • समेकित बाल विकास सेवाएं निदेशालय के अंतर्गत एक ऑनलाइन पोर्टल भी विकसित किया गया है। जिसके माध्यम से आवेदन फॉर्म पूर्ण करने के बाद में राशि के भुगतान की व्यवस्था की जाएगी।
  • लाभार्थी को राशि व्यक्तिगत जन आधार से जुड़े बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाएगी।
इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना कब शुरू हुई

प्रथम चरण – प्रथम चरण के अंतर्गत राजस्थान सरकार द्वारा बजट घोषणा 2020-21 की पालना में दिनांक 19.11.2020 से, Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana राज्य पाँच जनजातीय जिलों – प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर और बारां में लागू की गयी है।

द्वितीय चरण – द्वितीय चरण के अंतर्गत राजस्थान सरकार द्वारा वर्ष 2022-23 में योजना का दायरा बढ़ाते हुए राज्य के सभी 33 जिलों में लागू करने की घोषणा की गई ।

Fast job exam Latest Jobs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *